RSS

आगत की आहट…आज ही

जिंदगी  नेक्स्ट महज एक मैगजीन ही नहीं , बल्कि  एक कोशिश है उन सवालो के जवाब तलाशने की , जो पल पल हमारे दिलोदिमाग में भविष्य को लेकर घुमड़ते रहते हैं. भावी जीवन के पूर्वानुमान का अभ्यास एक कला भी है और विज्ञान भी…जो अतीत के अनुभवों और वर्तमान परिस्थितियों पर आधारित है. हर कला या हर विज्ञान की तरह इसकी भी अपनी कुछ सीमाएं  हैं,लेकिन इससे इसकी उपयोगिता,जरुरत और महत्व कम नहीं हो जाता. भविष्य जो अन्जान है,आशाओं,आशंकाओं,चुनौतियों से भरा है…उसकी आधारशिला उस आज पर ही रखी होती है,जिसे हम वर्तमान में  जी रहे हैं. भविष्यविज्ञान अथवा फ्युचरोलोजी इसी आधारशिला की तलाश और स्थापना में मदद करती है…

This slideshow requires JavaScript.


 
टिप्पणी करे

Posted by on नवम्बर 6, 2011 in Uncategorized